biada-will-also-make-startup-a-short-term-course-the-bihar-news

बियाडा देगी स्टार्टअप को जगह

पटना : स्टार्टअप उद्यमियों के लिए खुशखबरी है। उन्हें उद्योग लगाने के लिए जगह की व्यवस्था बियाडा करेगी। साथ ही उनमें प्रबंधन संबंधी गुणों का विकास करने के लिए शॉर्ट टर्म कोर्स भी शुरू करेगी। इससे उन्हें अपना संस्थान चलाने में बहुत मदद मिलेगी। यह जानकारी शुक्रवार को कार्यक्रम के दौरान बियाडा के प्रबंध निदेशक रविशंकर श्रीवास्तव ने दी। इस कार्यक्रम में एचसीएल के फाउंडर मेंबर अजय चौधरी भी शामिल हुए। वे इस समय पटना और हैदराबाद आईआईटी में एंटरप्रेन्योरशिप विषय पढ़ाते हैं।

कार्यक्रम के दौरान बियाडा के प्रबंध निदेशक ने कहा कि बड़े शहरों में ऐसा देखने को मिलता है कि एक बिल्डिंग में कई औद्योगिक संस्थानों के छोटे-छोटे ऑफिस रहते हैं। उसी तर्ज पर पटना में भी औद्योगिक संस्थानों में छोटे ऑफिस बनाने की योजना है। स्टार्टअप उद्यमियों को भी पाटलिपुत्र इलाके में जगह देने की योजना पर विचार किया जा रहा है।

कोर्स किया जा रहा तैयार

स्टार्टअप उद्यमियों के लिए शॉर्ट टर्म कोर्स शुरू करने के बारे में उन्होंने बताया कि इसे पटना स्थित चंद्रगुप्त प्रबंधन संस्थान तैयार कर रहा है। यह कोर्स करवाने में बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन भी सहयोग करेगा। इसके तहत उद्यमियों को प्रबंधन के गुण सिखाये जाएंगे, जिसकी मदद से वे अपना व्यापार बढ़िया से कर सकेंगे।

बियाडा के प्रबंध निदेशक ने कहा कि उद्यमियों के लिए उद्योग भवन के ग्राउंड फ्लोर में 600 वर्ग फीट एरिया में साइबर कैफे खोला जायेगा। उसमें इंटरनेट कनेक्टिविटी, प्रिंटर वगैरह की सुविधा मुहैया करायी जायेगी। इसमें बैठकर उद्यमी अपने उद्योग से संबंधित रिपोर्ट वगैरह तैयार कर सकेंगे।

इनक्यूबेटर की महत्वपूर्ण भूमिका

एचसीएल के फाउंडर मेंबर और पटना व हैदराबाद आईआईटी में एंटरप्रेन्योरशिप के शिक्षक अजय चौधरी ने स्टार्टअप उद्यमियों के विकास में इनक्यूबेटर की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि नए उद्यमियों को बिजनेस प्लान, कानूनी प्रावधानों, अकाउंट और फाइनेंस आदि की बहुत जानकारी नहीं होती है। इन सभी में इनक्यूबेटर उनकी मदद करते हैं।

बिजनेस स्टार्ट करवाने से लेकर समय-समय पर उन्हें तकनीकी और व्यावसायिक मदद भी करना उन्हीं का काम है। वे उद्यमी को मेंटर उपलब्ध करवाते हैं। एंजल फंडिंग से लेकर प्रोडक्ट बिकने तक की व्यवस्था भी करवाते हैं। इस कार्यक्रम में कई उद्यमी और इनक्यूबेटर भी शामिल हुये। उनके सवालों और समस्याओं का अजय चौधरी ने समाधान बताया।