tbn-patna-bihar-Announcement-of-war-will-be-done-today--Lalu-Prasad-the-bihar-news

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को सत्ता से उखाड़ देंगे : लालू

पटना : लोकसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकेंगे। 2018 में ही लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव कराने की तैयारी हो रही है। जदयू विधायक सुन लें, नीतीश कुमार ने ही यह सलाह दी है।

उक्त बातें राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कहीं। वे रविवार को राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आधा समय बीत गया है। शायद ही कोई भाजपा व जदयू वाले जीत कर आयेंगे। राजद की लड़ाई सांप्रदायिक ताकतों से है। उनकी पार्टी चुनाव के लिए तैयार है। चुनाव के तीन माह पूर्व फिर परिवर्तन रैली होगी।

लालू प्रसाद ने कहा कि देश की हालत बदतर व आपातकाल जैसी है। प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कहा कि अगर हिम्मत है तो जेल भेजवा दो। जेल या पहाड़ पर भी भेज दिया जायेगा तब भी राजद का वोट बढ़ेगा। उन्होंने बैठक में आये प्रतिनिधियों से कहा कि आप लोगों पर भरोसा है। लालू ने कहा कि पहले लोग शेर से डरते थे। अब गाय से डरते हैं। विश्व प्रसिद्ध सोनपुर मेला उजड़ गया है, क्योंकि अब यहां लोग पशु ले जाने में डरते हैं। उन्होंने कहा कि बक्सर के ओएसडी के सुसाइड मामले में राज्य सरकार जिम्मेदार है।

हार्दिक से हुई है बातचीत

लालू प्रसाद ने कहा कि गुजरात में हो रहे चुनाव को लेकर हार्दिक पटेल से बातचीत हुई है। भाजपावाले ने उसके चरित्र हनन का काम किया है। वे तेजस्वी व मीसा के लगातार संपर्क में हैं। वहां राजद कांग्रेस व शरद यादव के साथ है। आवश्यकता पड़ी तो खुद जाऊंगा। मीडिया विपक्ष के खिलाफ ही लड़ाई लड़ रही है।

बैठक में नहीं दिखे तेज प्रताप व तेजस्वी

बैठक में पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव व पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप नहीं थे। बैठक को तमिलनाडु की अध्यक्ष एस गौरी शंकर यादव, महाराष्ट्र के अध्यक्ष विजय सुरेश, पश्चिम बंगाल के अध्यक्ष बिंदा प्रसाद राय ने अपनी स्थानीय भाषा में संबोधित किया। बैठक का संचालन प्रदेश राजद अध्यक्ष डॉ रामचंद्र पूर्वे ने किया। बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रघुवंश प्रसाद सिंह, जगदानंद सिंह, शिवानंद तिवारी, अब्दुल बारी सिद्दीकी, आलोक मेहता आदि मौजूद थे। बैठक में 24 राज्यों के पार्टी प्रतिनिधि शामिल हुए।

सात प्रस्ताव पेश

बैठक में पार्टी की राजनीतिक, कृषि, आर्थिक, विदेश नीति सहित सात प्रस्ताव पेश हुए। इन प्रस्तावों पर 21 नवंबर को पार्टी के खुले अधिवेशन में चर्चा होगी।

ये भी पढ़े: सांसद पप्पू यादव को मिली जान से मारने की धमकी, दिल्ली में दर्ज कराई FIR