congress-mala-join-jdu-the-bihar-news

बिहार में कांग्रेस टूट की कगार पर, JDU-BJP पर लगाया पार्टी तोड़ने का आरोप

बिहार कांग्रेस में टूट की खबर मिल रही है जिसमें पार्टी के 14 विधायकों ने अलग अनौपचारिक समूह बना लिया है और वो सत्ताधारी जदयू में शामिल होने की योजना बना रहे हैं। इन्हें बस इंतजार है पार्टी के और चार विधायकों के अपने गुट में आने का ताकि अपनी विधायकी कायम रखने के लिए जरूरी दो-तिहाई आंकड़े का इंतजाम हो जाए।

बिहार में कांग्रेस के कुल 27 विधायक है। ऐसे में पार्टी से अलग होकर भी विधायकी बची रहे, इसके लिए कम-से-कम दो तिहाई यानी 18 विधायकों का एकसाथ टूटना जरूरी है।

सोनिया गाँधी ने बिहार कांग्रेस अध्यक्ष को दिल्ली बुलाया

पार्टी विधायकों के छिटकने की आशंका के मद्देनजर कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व ने बिहार कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी और कांग्रेस विधायक दल के नेता सदानंद सिंह को गुरुवार को दिल्ली तलब किया था। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिहार कांग्रेस के अंदर पक रही खिचड़ी से अनजान रहने को लेकर दोनों नेताओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए हर हाल में यह टूट रोकने को कहा।

बिहार में कांग्रेस के 27 विधायकों के अलावा छह विधान पार्षद भी हैं। इनमें चार, दो एमएलसी अशोक चौधरी एवं मदन मोहन झा तथा दो एमएलए अब्दुल जलील मस्तान एवं अवधेश कुमार, महागठबंधन की सरकार में मंत्री थे। कुछ और वरिष्ठ विधायकों को राज्य के विभिन्न बोर्डों और निगमों में जगह मिलने की आस थी, लेकिन नीतीश कुमार अचानक आरजेडी और कांग्रेस से नाता तोड़कर दोबारा बीजेपी के साथ हो लिए।

JDU-BJP पर लगाया पार्टी तोड़ने का आरोप

दरअसल, मंत्रालय या कोई मलाईदार पद मिलने की लालच के अलावा इन कांग्रेसी विधायकों पर अगड़ी जातियों के वोटरों का भी दबाव है जो महागठबंधन की जीत से लालू प्रसाद यादव को लंबे समय बाद मिली राजनीतिक ताकत के कारण यादवों का दबदबा बढ़ने से काफी बेचैन थे।

कांग्रेस ने जदयू पर लगाया पार्टी तोड़ने का आरोप

कांग्रेस ने JDU और BJP पर बिहार में पार्टी तोड़ने का आरोप लगाया है। पार्टी का कहना है कि बिहार में कांग्रेस विधायकों को तोड़ने का प्रयास किया गया था। उन्होनें कहा कि इस प्रयास से भाजपा और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अवसरवादी होने की पोल खुल गई है।

पार्टी प्रवक्ता आनंद शर्मा ने कहा कि बिहार में पार्टी एकजुट है। JDU और BJP ने पार्टी को तोड़ने की कोशिश की थी, पर उनकी कोशिश विफल रही। आनंद शर्मा का यह बयान प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी और विधायक दल के नेता सदानंद सिंह के कांग्रेस अघ्यक्ष से मुलाकात के एक दिन बाद आया है। दोनों नेताओं ने गुरुवार को सोनिया गांधी से मुलाकात की थी।