अगले साल से डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड या पेमेंट ऐप के जरिए भुगतान करते हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है।

thebiharnews-in-discount-on-all-digital-payments-including-debit-cardदेश में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने डिजीटल पेमेंट पर छूट देने का मन बनाया है। जीएसटी काउंसिल के सूत्रों की मानें तो ग्राहकों को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में 2 फीसदी छूट देने की योजना बना रही है। जनवरी में जीएसटी परिषद की होनेवाली अगली बैठक में इसपर मुहर लगेगी।

डिजीटल भुगतान को अपेक्षित ग्रोथ नहीं मिला

चूंकि नोटबंदी के बाद कैशलेस अर्थव्यवस्था की लाख कोशिशों के बावजूद डिजीटल भुगतान को अपेक्षित ग्रोथ नहीं मिला। जीएसटीसी के सूत्र बताते हैं कि यह छूट सिर्फ अंतिम उपभोक्ता को मिलेगा। अर्थात होलसेल डीलर्स को और बी-2-बी प्वाईंट्स पर यह उपलब्ध नहीं होगा। साथ ही यह उन उत्पादों और सेवाओं पर ही लागू होगा जिनपर जीएसटी की दर न्यूनतम 3 फीसदी दर लागू होती है।

छूट की अधिकतम सीमा 100 रुपये तक

जीएसटी फ्री उत्पादों और सेवाओं के पेमेंट सामान्य तौर पर ही होंगे। हां इतना जरूर है कि जिन जिन प्वाईंट पर सरचार्ज लगाये जाते हैं उनसे मुक्ति मिल सकती है। यह छूट जीएसटी पर मिलेगी न कि कैशबैक ऑफर होगा। इसमें राज्य और केंद्र आधी-आधी सहभागिता करेंगे। हालांकि छूट की अधिकतम सीमा 100 रुपये तक ही होगी।

ये भी पढ़े : 4 साल में बेकार हो जाएंगे ATM, मोबाइल फोन से होगा वित्तीय लेनदेन : NITI आयोग

डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने का यह बेहतरीन तरीका होगा। कैश की जरूरत कम करके प्लास्टिक मनी से ट्रांसपेरेंसी बढ़ेगी। ग्राहक भी सुरक्षित होंगे और दुकानदार भी। आर्गेनाइज्ड इकोनोमी का आकार बढ़ाने में मदद मिलेगी क्योंकि उपभोक्ता दुकानदारों से डिजिटल भुगतान के विकल्पों की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि इससे कर चोरी भी कम होगी और अनुपालन की दर में भी सुधार आएगा।
बैंक ऑफ इंडिया, उप आंचलिक प्रबंधक, बैंक ऑफ इंडिया पटना

डिजिटल तरीके से भुगतान करने पर जीएसटी में छूट बहुत बढ़िया आईडिया है और ग्राहक इससे निश्चित जुडेंगे। वर्ष 2016-17 में डिजिटल पेमेंट का आकार काफी बड़ा हो सकता था क्यूंकि नोटबंदी से 84 फीसदी वैल्यू के नोट अर्थव्यवस्था से बाहर हो गये थे। परंतु कैश ने वापस जोर पकड़ लिया क्योंकि डिजिटल पेमेंट में आकर्षण नहीं था।
राजेश खेतान, सीए सह जीएसटी एक्सपर्ट, माइक्रोटैक्स पटना

मेरी जानकारी है कि इस योजना के तहत उपभोक्ताओं को दो कीमतों की पेशकश की जाएगी। इनमें से एक में नकद भुगतान के साथ खरीदारी करने पर सामान्य जीएसटी दर लगेगा जबकि डिजिटल भुगतान पर जीएसटी में 2 फीसदी की छूट मिलेगी। स्वाभाविक है कि लोग डिजिटल पेमेंट की ओर आकर्षित होंगे।
आशीष कुमार अग्रवाल, चार्टेड एकाउंटेंट, आईसीएआई पटना

ये भी पढ़े : अच्छी खबर: मुफ्त वाई-फाई योजना के तहत अब बार-बार लागिंन आईडी -पासवर्ड नहीं डालना पड़ेगा